अमेठी से मेरा रिश्ता पीढ़ियों का रहा है, मैं उस रिश्ते को निभाऊंगा : राहुल गांधी

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अमेठी से हार गए जिसके बाद कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाली अमेठी पर बीजेपी की समिरीति ईरानी ने फतह हासिल की, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अमेठी में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अमेठी से मेरा रिश्ता राजनैतिक नहीं पारिवारिक है। दिन हो या रात हो आप जब भी आवाज देंगे, मैं हाजिर हो जाऊंगा। राहुल गांधी गौरीगंज के निर्मला देवी इंस्टीट्यूट में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि अमेठी से मेरा रिश्ता पीढ़ियों का रहा है। मैं उस रिश्ते को निभाऊंगा। मैं वायनाड से सांसद हूं इसलिए वहां के विकास कार्य भी मुझे देखने हैं लेकिन मैं अमेठी आता रहूंगा।

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
Rahul Gandhi in Amethi: I am an MP from Wayanad, I have to devote time to Wayanad, but I’d give time to you as well. I was Amethi MP for 15 years, I have old ties with Amethi. Whenever Amethi would need me, be it at night or 4 in the morning, I would be here.

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
Rahul Gandhi with workers of Congress party, in Amethi. This is his first visit to the constituency, post the loss in Lok Sabha elections 2019.

 

 

लोकसभा चुनाव में हार के बाद पहली बार राहुल गांधी अमेठी दौरे पर हैं। राहुल बुधवार सुबह अमौसी एयरपोर्ट पर पहुंचे जहां से वह सड़क मार्ग से सीधे गौरीगंज के चौक बाजार पहुंचे। यहां उन्होंने दिवंगत डॉ. गंगा प्रसाद गुप्त के परिजनों से मिलकर शोक संवेदना प्रकट की।

कांग्रेस से जुड़े डॉ. गंगा प्रसाद गुप्त का हाल ही में निधन हो गया था। यहां से राहुल गांधी गौरीगंज के सुभावत पुर स्थित निर्मला देवी इंस्टीट्यूट पहुंचे। जहां कार्यकर्ताओं से संवाद का कार्यक्रम रखा गया था। यहां तीन अलग-अलग कक्षाओं में वरिष्ठ कांग्रेसी न्याय पंचायत स्तर व ग्राम पंचायत स्तर के कांग्रेस पार्टी नेताओं को बैठाया गया था। सबसे पहले राहुल गांधी ने वरिष्ठ कांग्रेसियों व जिला इकाई के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वह जनता के हितों के लिए संघर्ष करें। कांग्रेस पार्टी की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाएं। यहां वरिष्ठ कांग्रेसी करण बाजपेई व सोभनाथ यादव ने भावुकता के साथ राहुल गांधी से अमेठी में बने रहने की अपील की।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि धनबल और बाहुबल के आगे हम चुनाव हार गए लेकिन फिर जीतेंगे। इसके बाद राहुल ने न्याय पंचायत प्रभारियों व ग्राम पंचायत अध्यक्षों के साथ बैठक में भी लगभग यही बातें दोहराई।

राहुल गांधी के साथ राजसभा सदस्य डॉ संजय सिंह, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय सिंह लल्लू, एमएलसी दीपक सिंह समेत कई अन्य कांग्रेसी नेता मौजूद रहे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed