भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का अंतिम टीवी इंटरव्यू : देखें वीडियो

Marriage invitation card of Indian first PM Jawahar Lal Nahru in Urdu.

 

 

 

 

मोहसिन शेख, अख़लाक़ से लेकर तबरेज़ अंसारी तक moblynching में 70 से ज़यादा मौतें हो चुकी हैं!

Azhar Shameem
===============
मोहसिन शेख, अख़लाक़ से लेकर तबरेज़ अंसारी तक moblynching में 70 से ज़ियादा मौतें हो चुकी हैं, जिनमें R.S.S की विचारधारा से प्रेरित गोड़सेवादी भगवा गुंडों ने किसी निर्दोष को अकेला पा कर या रास्ते में घेर कर पकड़ लिया और संघी / भाजपायी एजेंडे के तहत पीट, पीट कर मार डाला। सरकारें सोती रहीं ,इन हत्याओं के खिलाफ कोई सख्त कदम नही उठाया गया , उल्टा हत्यारों को ज़मानत मिलने पर जेल से बाहर आने पर केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के मंत्री पुत्र जयंत सिन्हा ने हार, माला पहना कर मिठाई खिलाकर स्वागत किया तो दादरी में अख़लाक़ के हत्यारे की जेल में बीमारी से हुई मौत पर उसे शहीद का दर्जा देते हुए उसकी लाश को तिरंगे में लपेटा गया। इन सब की वीडियो बना कर वायरल की गई।

लिहाज़ा मुसलमानों में इस बढ़ती हुई moblynching ,इसके खिलाफ कोई पुलिस एक्शन ना लेने और अपराधियों के छूट जाने और भाजपा नेताओं द्वारा उन्हें सम्मानित किए जाने से मुसलमान मायूस थे और अंदर , अंदर खौल रहे थे। झारखंड के धतकीडीह में 25 साल के नवजवान तबरेज़ अंसारी जिसकी 2 माह पूर्व शादी हुई थी और वो वापिस अपने काम पर पूना जाने वाला था। भगवा आतंकियों द्वारा उसकी पीट, पीट कर हत्या किए जाने, जबरन जय श्री राम और ,जय हनुमान का नारा लगवाने के वीडियो सामने आते और उसकी मौत की ख़बर ने देश भर के मुसलमानों में आक्रोश भर दिया और जब सब्र का पैमाना लबरेज़ हो गया और ज़ुल्म हद को पार कर गया तो जमात इस्लामी , जमीअत उलेमा हिन्द के अकबीरीन मैदान में कूद पड़े और विरोध प्रदर्शन की कमान संभाल ली।

जिस तरह से देहरादून, उत्तराखंड के जमीअत के ज़िला सदर मुफ़्ती रईस और पंजाब /हरियाणा के शाही इमाम ने ज़बरदस्त बयान दिया,चेतावनी दी उससे मुस्लिम नवजवानों को काफी हौसला मिला। united against hate के बैनर तले भी एक साथ 57 जगहों पर विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया। देवबंद में जबरदस्त एहतेजाजी प्रोग्राम हुआ जिसे united against hate के संयोजक नदीम खान ने संबोधित किया। इस तरह के लगातार होने वाले जलसे , जुलूस को देखते हुए औरंगाबाद महाराष्ट्रा, मालेगांव, रतलाम, इंदौर, भोपाल, देवबंद, लखनऊ, रांची, जमशेदपुर, जोधपुर, जयपुर वगैरह में जोरदार विरोध प्रदर्शन और जलसा हुआ जिसमें वक्ताओं ने हुकूमत को साफ तौर से चेतावनी दी कि इस प्रायोजित हत्या पर रोक लगाओ वरना प्रतिक्रिया के लिए तैयार हो जाओ। और अगर हालात ऐसे ही बने रहे , लगातार moblynching या संघ / भाजपा प्रायोजित हत्या होती रही, मुसलमानो को डराया, धमकाया और ज़लील किया जाता रहा तो फिर भारत में भी सिरिया ,अफगानिस्तान जैसे हालात पैदा हो जाएंगे और देश को लंबे समय तक गृहयुद्ध का शिकार होना पड़ेगा और फिर विकास की जगह विनाश ही विनाश दिखाई देगा। हर देशप्रेमी, इंसानियत प्रेमी हिन्दू, मुसलमान, सिख, ईसाई भाईय्यों को इसे रोकना होगा।गोदी मीडिया के ज़हरीले प्रचार से बचना होगा।

Mustaqim Siddiqui
==============
4 मुस्लिम लड़को के लिंचिंग की खबर राँची से हैं, एफ आई आर खुद पढ़ लें। बाकी दलित हमारा भाई है वाला तख्ती बनाकर अपने गला में लटका लें या जय भीम जय मीम अपनी टोपी में लिखवा लें कोई फर्क नही पड़ता। फर्क पड़ेगा यदि इसको ब्राह्मणों और स्वर्णों के हवाले कर दीजिए।
मुसलमान की लिंचिंग करने में दलित सबसे आगे है, दलितों का दर्द और बोझ अपने सर में लादने में मुसलमान सबसे आगे है। जब दलित शिक्षित, समर्थ और शशक्त होता है तो संसद में असद ओवैसी साहब के जय भीम के जवाब में जय श्रीराम का नारा लगाता है।
बाकी जिसे लोड लेना हो ले।
Mustaqim Siddiqui
इंसाफ इंडिया।

declaimer : witter is a social activist, views express here are writters own views, TEESRI JUNG HINDI not expressing any of his openion.

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed