इतिहास

16 सितम्बर का इतिहास : लीबिया के नेता उमर मुख्तार को फांसी दी गयी, अलजीरिया के नेता अमीर अब्दुल क़ादिर अल जज़ायरी गिरफ़तार हुए!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 16 सितंबर वर्ष का 259 वाँ (लीप वर्ष में यह 260 वाँ) दिन है। साल में अभी और 106 दिन शेष हैं। 16 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ ================ 1810 – निगवेल हिदाल्गो ने स्पेन से मैक्सिको की आज़ादी के लिए संघर्ष शुरु किया। 1821 – मैक्सिको की स्वतंत्रता को मान्यता मिली। […]

इतिहास

15 सितम्बर का इतिहास : 973 में फ़ारसी विद्वान् लेखक, वैज्ञानिक, धर्मज्ञ तथा विचारक ‘अबु रेहान मुहम्मद बिन अहमद अल-बेरूनी’ का जनम हुआ!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 15 सितंबर वर्ष का 258 वाँ (लीप वर्ष में यह 259 वाँ) दिन है। साल में अभी और 107 दिन शेष हैं। 15 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ ================ 1812 – नेपोलियन के नेतृत्व में फ्रांसीसी सेना मास्को के क्रैमलिन पहुंची। 1959 – भारत की राष्ट्रीय प्रसारण सेवा दूरदर्शन की शुरुआत। 1982 […]

इतिहास

11 सितम्बर का इतिहास : 11 सितम्बर 1948 को क़ायदे अज़ाम मोहम्मद अली जेनाह का निधन हुआ, यहूदियों ने WTC व पेंटागन पर आतंकवादी हमला किया!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 11 सितंबर वर्ष का 254 वाँ (लीप वर्ष में यह 255 वाँ) दिन है। साल में अभी और 111 दिन शेष हैं। 11 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ ============= 1893 – शिकागो में विश्व धर्म सम्मेलन में स्वामी विवेकानंद ने कट्टरता, सहिष्णुता और सभी धर्मों में निहित सच्चाई पर ऐतिहासिक भाषण दिया। […]

इतिहास

10 सितम्बर का इतिहास : 10 मोहर्रम सन 61 हिजरी क़मरी को इराक़ के कर्बला में हक़ और बातिल का ज़ोरदार टकराव हुआ!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 10 सितंबर वर्ष का 253 वाँ (लीप वर्ष में यह 254 वाँ) दिन है। साल में अभी और 112 दिन शेष हैं। 10 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ =========== 1823 – साइमन बोलिवर पेरु के राष्ट्रपति बने। 1846 – एलियस होवे ने सिलाई मशीन का पेटेंट कराया। 1847 – हवाई द्वीप में […]

इतिहास

#Chechnya : दस लाख की आबादी का काकेशियन मुल्क #चेचनियां के बारे में जानिये

  चेचनियां का पूरा नाम है रिपब्लिक ऑफ चेचनियां, दारुल खिलाफा है ग्रोज़नी चेचनियां कोई दस लाख की आबादी का काकेशियन मुल्क है जिस पर रूस का ग़ासिबाना कब्ज़ा है चेचनियां में मज़हबे इस्लाम अपने अव्वल दौर यानी हज़रत उमर बिन खत्ताब रज़ि की खिलाफत के ज़माने में ही पंहुच गया था, काबिले गौर बात […]

इतिहास

9 सितम्बर का इतिहास : 1920 में एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय में रूपांतरित हुआ, सिनेमा इतिहास के महानतम निर्माता-निर्देशक महबूब ख़ान जन्मे!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 9 सितंबर वर्ष का 252 वाँ (लीप वर्ष में यह 253 वाँ) दिन है। साल में अभी और 113 दिन शेष हैं। 9 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ 1776 – अमेरिकी संसद कांग्रेस ने आधिकारिक तौर पर देश का नाम ‘यूनाइटेट कॉलोनीज़’ से बदलकर संयुक्त राज्य अमेरिका किया। 1850 – कैलीफोर्निया अमेरिका […]

इतिहास

8 सितम्बर का इतिहास : 8 सितम्बर 1960 को प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और लोकसभा के प्रभावशाली सदस्य फ़ीरोज़ गाँधी का निधन हुआ

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 8 सितंबर वर्ष का 251 वाँ (लीप वर्ष में यह 252 वाँ) दिन है। साल में अभी और 114 दिन शेष हैं। 8 सितंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ ============= 1271 – जाॅन XXI का पोप के रूप में चयन । 1320 – गाजी मलिक दिल्ली का सुल्तान बना। 1331 – स्टीफन उरोस […]

इतिहास

उस शानदार फ़तह़ ने “अतातुर्क” को तुर्की का हीरो बना दिया!

पहली जंग-ए-अज़ीम के दौरान गेलीपोली युद्ध मे ख़िलाफत उस्मानिया की फौजों ने इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की संयुक्त फौज को इब्रतनाक शिकस्त दी थी, ख़िलाफत की तरफ से उस जंग की क़यादत बदनाम-ए-ज़माना सेकुलर-ओ-मुर्तद “मुस्तफा कमाल पाशा” अतातुर्क कर रहा था…ख़िलाफत की उस शानदार फ़तह़ ने “अतातुर्क” को तुर्की का हीरो बना दिया, मैने एक […]

इतिहास

बंकिम चन्द्र चटर्जी ने शिक्षा हुगली मोहसिन कॉलेज में प्राप्त की थी, कॉलेज के संस्थापक का नाम है “हाजी मुहम्मद मोहसिन” है!

वर्तमान शिक्षा प्रणाली को स्थापित करने वाले देश के प्रथम शिक्षा सुधारक हाजी मोहम्मद मोहसिन पर चर्चा: वंदे मातरम आंनद मठ में एक कविता है, आंनद मठ के लेखक बंकिम चन्र्द चटर्जी हैं, बंकिम चन्द्र चटर्जी ने हुगली मोहसिन कॉलेज में शिक्षा प्राप्त की थी, हुगली मोहसिन कॉलेज के संस्थापक का नाम है “हाजी मुहम्मद […]

इतिहास

जिन्होने अंग्रेज़ो का मुक़ाबला आख़री दम तक किया और अंग्रेज़ो को मुल्क छोड़ने पे मजबूर किया

जब यूरोपियन देशो ने मुस्लिम इलाक़ो पे चढ़ाई शुरू की तो उनका मुकाबला करने के लिये कुछ ऐसी शेर दिल शख्सियात सामने आई जिन्होने न सिर्फ़ मुसलमानो की कियादत और उन्हे अपनी विरासत की तरफ लौटने का पैगाम दिया बल्कि अंग्रेज़ो के सामने वो चैलेंज पेश किया की खुद अँग्रेज़ उनकी बहादुरी के सामने घुटने […]